सोमवार, 29 अप्रैल 2019

ये है किस्मत: श्रीलंका बम धमाकों में बची इनकी जान, 26/11 को मुंबई में थे मौजूद


दुबई के रहने वाले भारतीय दंपति श्रीलंका की राजधानी कोलंबो के सिनेमन ग्रांड होटल में हुए बम धमाके में मुश्किल से बचे हैं। 21 अप्रैल को हुए आत्मघाती हमलों और सिलसिलेवार बम धमाकों में इस होटल को भी निशाना बनाया गया था। अभिनव छारी और उनकी पत्नी नवरूप के. छारी एक बिजनेस ट्रिप पर श्रीलंका पहुंचे थे। अभिनव और उनकी पत्नी नवरूप दुबई में ही पले बढ़े हैं। अभिनव का कहना है कि वह दो बार संयुक्त अरब अमीरात से बाहर गए हैं, और दोनों बार उन्होंने आतंकी हमला देखा है। जो इस्लामी आतंकवाद पर आधारित थे।

उनका पहला अनुभव था साल 2008 में मुंबई में हुआ बम धमाका। जब आतंकियों ने बम धमाकों के साथ भारी गोलीबारी भी की थी। अभिनव कहते हैं, "मेडिसिन की पढ़ाई के लिए मैं साल 2008 में मुंबई में था। वो पांच से छह दिन भयानक थे।"

श्रीलंका के बारे बोलते हुए उन्होंने कहा, "ईस्टर संडे पर, हम चर्च गए थे। थोड़ी देर बाद पादरी ने एक घोषणा कर सभी लोगों से चर्च परिसर से जाने को कहा।"

उन्होंने आगे कहा, "चर्च से निकलने के बाद हमने ब्रेकफास्ट करने के लिए टैक्सी ली, जो हम ईस्टर मास के बाद आमतौर पर करते हैं। उतने ही हमने सड़क पर हल्ला गुल्ला देखा और वापस होटल जाने का फैसला लिया। जब हम वहां पहुंचे तो सभी लोगों को लॉन में खड़ा पाया। तब हमें लगा कि ये कोई सिक्योरिटी प्रोटोकॉल होगा।"

नवरूप का कहना है, "सोशल मीडिया से इस खबर के बारे में हमने तब तक कुछ नहीं जाना था, हमें घटना के बारे कुछ नहीं पता था। मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि हमारे सामने क्या हो रहा है। वो सब एक फिल्म की तरह लग रहा था।"

बता दें श्रीलंका में 21 अप्रैल को ईस्टर संडे को कई आत्मघाती हमले और सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे। जिसमें चर्च और पांच सितारा होटलों को निशाना बनाया गया। इन हमलों में 253 लोगों की मौत हो गई और करीब 500 लोग घायल हुए। श्रीलंका में 25 साल तक चले गृह युद्ध के बाद यह ऐसा पहला हादसा था। 


‘फैनी’ तूफान को लेकर मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, अगले 24 घंटे खतरनाक


बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान 'फैनी' से खतरे के मद्देनजर भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने दक्षिण भारत में अलर्ट जारी किया है। भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि ये तूफान आने वाले 12 घंटों में गंभीर रूप ले सकता है और अगले 24 घंटों के भीतर ये बेहद ही खतरनाक रूप ले सकता है। एक मई तक इस तूफान के उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना जताई गई है। साथ ही यह धीरे-धीरे उत्तर-पूर्व की ओर फिर से बढ़ेगा। तूफान के चलते अगले कुछ दिनों तक तमिलनाडु, केरल और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की आशंका जताई है। क्षेत्रीय तूफान चेतावनी केंद्र के निदेशक एस बालाचंद्रन ने कहा कि रविवार रात और सोमवार सुबह तक इस चक्रवाती तूफान के बढ़ने की संभावना है। उन्होंने 30 अप्रैल और 1 मई तक इस तूफान के तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र तट के पास पहुंचने की संभावना जताई है। उन्होंने कहा कि फनी चक्रवाती तूफान एक मई के बाद अपनी दिशा बदलेगा और उत्तर और उत्तर पूर्व की ओर बढ़ेगा। लेकिन यह तमिलनाडु तट और दक्षिण आंध्र तट को पार नहीं करेगा।विभाग ने इससे पहले शनिवार को बताया था कि हिंद महासागर और दक्षिण पूर्व बंगाल की खाड़ी में बना भारी दबाव तेजी से चक्रवाती तूफान में तब्दील हो रहा है और 30 अप्रैल तक उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों से टकरा सकता है। 

बालाचंद्रन ने बताया कि बांग्लादेश के सुझाव पर तूफान को 'फैनी' नाम दिया गया है और अगले 24 घंटे में चक्रवाती तूफान के खतरनाक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। रविवार को 80-90 किलोमीटर से 100 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार से हवा चल सकती है और दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी में समुद्र में ऊंची लहरें उठ सकती हैं। 

तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों, कोमोरिन के क्षेत्र, मन्नार की खाड़ी और केरल के तटों 30-40 किमी. प्रति घंटे से 50 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। 29 और 30 अप्रैल को केरल के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं, 30 और 1 मई को तमिलनाडु और आंध्र में हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान है। 

आईएमडी ने मछुआरों को 27 अप्रैल से 1 मई तक श्रीलंका, पुडुचेरी, तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी दी है। जो मछुआरे गहरे समुद्र में जा चुके हैं, उन्हें 28 अप्रैल तक तटों पर लौटने की सलाह दी गई है। 


पीएम मोदी और राहुल गांधी के बीच अब लाइफस्टाइल जंग शुरू, वीडियो बनी प्रचार अभियान का हिस्सा


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की लाइफ स्टाइल लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान का हिस्सा बन गई है। कांग्रेस आईटी सेल के लोगों की माने तो राहुल गांधी द्वारा शेयर किए जा रहे वीडियो खूब देखे जा रहे हैं। यह वीडियो राहुल गांधी की अनुमति से शेयर हो रहे हैं। कांग्रेस ने यह नया प्रयोग शुरू किया है और पिछेले सप्ताह से इसकी संख्या बढ़ी है। बताते हैं ऐसा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रचार अभियान की काट के तौर पर हो रहा है।


क्या है वीडियो में


  1. राहुल गांधी हेलीकाप्टर में बैठकर समोसा खा रहे हैं। यह प्रचार अभियान में संक्षिप्त नाश्ता का वीडियो है। वह अपने सहयोगी को समोसा पकड़ा रहे हैं। समोसा उ.प्र. का सबसे पापुलर नाश्ता है। पकौड़ा से ज्यादा इसने मार्केट शेयर ले रखा है। राहुल गांधी बिल्कुल सहज भाव में हैं और अपने सहयोगी को समोसा के बारे में बता रहे हैं।
     

  2. राहुल गांधी एक वीडियो में हेलीकाप्टर के पायलट से चैटिंग कर रहे हैं। उनसे सहज भाव में कुछ जानने की कोशिश कर रहे हैं। जैसे एक जिज्ञासु सहज स्वभाव का उदार व्यक्ति मित्रवत व्यवहार में कुछ जानना चाहता हो। इसके बाद राहुल गांधी हेलीकाप्टर से नीजे उतरते हैं और घास-पूस वाले रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं।
     

  3. तीसरा वीडियो प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ का है। राहुल गांधी एयरपोर्ट पर अपनी बहन के पास आते हैं। भाई-बहन का प्यार दिखाते हुए राहुल गांधी खड़े होते हैं। आम तौर पर राहुल और प्रियंका इस तरह से कभी वीडियो में सार्वजनिक तौर से सामने नहीं आए हैं।



इस वीडियो में राहुल गांधी दोनों हाथ पास लाकर हेलीकाप्टर के छोटा होने का संकेत करते हुए बताते हैं कि कैसे वह प्रचार अभियान में छोटे से हेलीकाप्टर से प्रचार कर रहे हैं और पार्टी ने उनकी बहन, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को बड़ा हेलीकाप्टर दिया है।  राहुल के इस तरीके पर प्रियंका बहन के प्यार का झेंप दिखाती हैं। मजे की बात यह है कि यह टीवी और अखबार में खबर का स्पेस पा रही है। कांग्रेस आईटी सेल के रोहन गुप्ता कहते हैं कि लोगों को अच्छा लग रहा है, तभी तो।

यह वीडियो क्यों?

कांग्रेस के नेता इस तरह के वीडियो पर कोई और टिप्पणी नहीं करते। पार्टी के एक पुराने महासचिव का कहना है कि इस तरह की चीजें प्रचार अभियान का हिस्सा नहीं होती थी। इनसे परहेज किया जाता था, लेकिन जब चुनाव मुद्दों पर न हों तो यही चलेगा। वह चुनाव में राष्ट्रवाद के मुद्दे पर कटाक्ष कर रहे हैं।

सूत्र का कहना है कि कैसा राष्ट्रवाद का दौर चल रहा है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर सही हैं, अन्याय हुआ और आतंकवाद से लडऩे वाला पुलिस अफसर हेमंत करकरे किस रूप में पेश किया जा रहा है? एक राज्य का मुख्यमंत्री कह रहा है कि मोदी जी हिन्दुस्तान में बोलते हैं तो पाकिस्तान में इमरान कांपता है।

सूत्र का कहना है कि यह कोई चुनाव लडऩे के मुद्दे हैं। पांच साल की लोकतंात्रिक सरकार इन मुद्दों पर चुनाव लड़ रही है? प्रधानमंत्री अपने निजी जीवन को प्रचारित कर रहे हैं? मेरे हिसाब से यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। सूत्र का कहना है कि मैं यह नहीं कांग्रेस ही बहुत पाक-साफ है, लेकिन जिसकी जिम्मेदारी ज्यादा है, पहले सवाल तो उन पर ही उठेगा।

Bhagwat Geeta Chapter 9 राजविद्याराजगुह्ययोग(प्रभावसहित ज्ञान का विषय)

Bhagwat Geeta Chapter 9 राजविद्याराजगुह्ययोग(प्रभावसहित ज्ञान का विषय)


बड़ी खबर #VoteKaro: मतदान के दौरान बंगाल में बवाल, चुनाव आयोग पहुंची भाजपा








VoteKaro दोपहर दो बजे तक हुआ 38 फीसदी मतदान, पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा 52 फीसदी वोटिंग



  • चौथे चरण में सोमवार को नौ राज्यों की 71 सीटों पर वोटिंग 

  • इस चरण में कई दिग्गजों के परिवारों की प्रतिष्ठा दांव पर है

  • मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ मैदान में 

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव भी उम्मीदवार

  • पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत भी सियासी अखाड़े में

  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव भी लड़ रहीं








 

आदित्य कवच मंत्र


ज्योतिषीय उपाय-


शत्रुओं पर विजय दिलाता है आदित्य कवच मन्त्र 


30 दिन तक सूर्योदय के समय करें पाठ 


 ॥  आदित्य कवच मंत्र  ॥


ततो युद्धपरिश्रान्तं समरे चिन्तया स्थितम् ।


रावणं चाग्रतो दृष्ट्वा युद्धाय समुपस्थितम् ॥१॥


दैवतैश्च समागम्य द्रष्टुमभ्यागतो रणम्।


उपागम्याब्रवीद्राममगस्त्यो भगवान् ऋषिः॥ २॥


राम राम महाबाहो शृणु गुह्यं सनातनम्।


येन सर्वानरीन् वत्स समरे विजयिष्यसि ॥ ३॥


आदित्यहृदयं पुण्यं सर्वशत्रुविनाशनम्।


जयावहं जपेन्नित्यम् अक्षय्यं परमं शिवम् ॥ ४ ॥


सर्वमङ्गलमाङ्गल्यं सर्वपापप्रणाशनम्।


चिन्ताशोकप्रशमनम् आयुर्वर्धनमुत्तमम् ॥ ५॥


रश्मिमन्तं समुद्यन्तं देवासुरनमस्कृतम्।


पूजयस्व विवस्वन्तं भास्करं भुवनेश्वरम् ॥ ६॥


सर्वदेवात्मको ह्येष तेजस्वी रश्मिभावनः ।


एष देवासुरगणाँल्लोकान् पाति गभस्तिभिः ॥ ७ ॥


एष ब्रह्मा च विष्णुश्च शिवः स्कन्दः प्रजापतिः।


महेन्द्रो धनदः कालो यमः सोमो ह्यपां पतिः ॥ ८ ॥


दूरभाष - 9911438929 (सुबह 10 से 7 बजे तक )


बीआरएफ के दौरान 6.4 अरब से अधिक अमेरिकी डॉलर के समझौतों पर हस्ताक्षर


चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शनिवार को कहा कि बेल्ट एंड रोड फोरम (बीआरएफ) के दौरान 6.4 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक के सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए हैं। जिनपिंग ने कहा कि बेल्ट एंड रोड मुहिम (बीआरआई) से दुनियाभर में सभी को फायदा होगा तथा इससे स्थापित अंतरराष्ट्रीय मानकों का पालन करते हुए साझा विकास का रास्ता प्रशस्त होगा। उन्होंने दूसरे बेल्ट एंड रोड फोरम में भाग ले रहे 37 देशों के प्रमुखों के एक गोलमेज सम्मेलन को संबोधित करते हुए शनिवार को कहा कि हजारों अरब डॉलर की बीआरआई परियोजनाओं का जोर इसमें शामिल सभी देशों और उसके लोगों का साझा विकास करने पर होगा।


उन्होंने कहा, 'हम निश्चित तौर पर गंभीर परामर्श, संयुक्त योगदान और साझा लाभ के सिद्धांतों को क्रियान्वित करेंगे ताकि हर किसी का पक्ष सुना जा सके, हर कोई पूरी क्षमता प्राप्त कर सके और हर किसी को फायदा हो।' जिनपिंग ने कहा कि बीआरआई निश्चित तौर पर खुला, स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल होना चाहिए तथा इसे उच्च मानक एवं लोगों पर केंद्रित टिकाऊ रुख अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे संयुक्त राष्ट्र् के टिकाऊ विकास एजेंडा का पालन करना चाहिए।

तेल की कीमतों पर काबू पाने के अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान पर उठे सवाल


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की तेजी पर अमेरिका राष्ट्रपति ने राहत भरी खबर दी कि उन्होंने सऊदी अरब समेत ओपेक देशों से कच्चा तेल उत्पादन बढ़ाने पर बात की है और सभी इसके लिए तैयार हो गए हैं। लेकिन कुछ ही घंटों बाद पूरे मामले से संबंधित एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति ने विएना स्थित ओपेक के मुख्यालय पर किसी से भी तेल उत्पादन पर कोई बात ही नहीं की है।दरअसल, व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बात करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से ओपेक पर तेल की कीमतें कम रखने का दबाव बनाया था। ट्रंप ने ट्वीट भी किया कि पिछले दो माह से तेल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए बनाया और सऊदी समेत अन्य ओपेक देशों ने तेल का उत्पादन बढ़ाने पर सहमति जता दी है। 

उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके ओपेक देशों से तेल का उत्पादन बढ़ाने के प्रयास रंग ला रहे हैं। लेकिन विएना स्थित ओपेक देशों के सचिवालय नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि ट्रंप ने इस बारे में किसी से कोई चर्चा की ही नहीं है। अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने न तो ओपेक महामंत्री से बात की है और न ही सऊदी के ऊर्जामंत्री से तेल उत्पादन को लेकर वार्ता की है। बता दें कि विएना में ओपेक देशों का स्थायी स्टाफ है और यहीं पर मंत्री स्तरीय बैठकें आयोजित होती हैं। 

लंबे समय से बढ़ रही है तेल की कीमत

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बीते एक माह से कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। एक साल की समान अवधि में कच्चे तेल की कीमतों में 33 फीसदी का उछाल आ चुका है। शनिवार सुबह अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड तेल 71.63 डॉलर प्रति बैरल और डब्ल्यूटीआई क्रूड तेल 63.30 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहे हैं।


चीन में दुनिया की सबसे ऊंची बुद्ध प्रतिमा का दीदार कर सकेंगे पर्यटक



खास बातें



  • - 71 मीटर ऊंची है बुद्ध की प्रतिमा

  • - निर्माण में 90 साल से ज्यादा का वक्त लगा था

  • - छाती और पेट वाले हिस्से में आ गई थी दरार

  • - इसमें 3डी लेजर स्कैनिंग जैसी तकनीक का हुआ है इस्तेमाल



 

चीन के दक्षिण-पश्चिम सिचुआन प्रांत में  विश्व की सबसे बड़ी मानी जाने वाली विशालकाय 71 मीटर ऊंची बुद्ध की प्रतिमा को छह माह की मरम्मत के बाद फिर से पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। यह निरीक्षण प्रतिमा की पुनरूद्धार योजना का हिस्सा थी। बुद्ध की इस प्रतिमा के निर्माण में 90 साल से ज्यादा का वक्त लगा था।





 

इसे बनाने की शुरुआत तांग वंश (618-907) के शासन के दौरान वर्ष 713 में हुई थी। लेशान शहर के बाहरी हिस्से में बनी 71 मीटर ऊंची इस प्रतिमा की छाती और पेट वाले हिस्से में दरारें आ गई थी और यह कहीं-कहीं से टूट गई थी। 

सरकारी समाचार समिति शिन्हुआ ने बताया कि निरीक्षण कार्य के दौरान ड्रोन से हवाई सर्वेक्षण, थ्री डी लेजर स्कैनिंग जैसी अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया गया। विश्व धरोहर का दर्जा प्राप्त इस प्रतिमा का पहले भी पुनरूद्धार किया जा चुका है।

मोदी-शाह पर चुनाव आयोग ने नहीं लिया एक्शन तो सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस, सुनवाई कल


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन मामले में कार्रवाई को लेकर कांग्रेस उच्चतम न्यायालय पहुंच गई है। कांग्रेस ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह के खिलाफ 24 घंटे में फैसला लेने के लिए चुनाव आयोग को निर्देश दिए जाएं। उच्चतम न्यायालय कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया है। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को कहा कि वह लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा आदर्श आचार संहिता का कथित रूप से उल्लंघन करने के मामले पर मंगलवार को सुनवाई करेगा। कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने इस संबंध में न्यायालय में अर्जी दी है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि देव की याचिका पर कल मंगलवार को सुनवाई होगी।

देव की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता ए. एम. सिंघवी ने आरोप लगाया कि मोदी और शाह ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है और निर्वाचन आयोग उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। सिंघवी ने कहा कि देश में चार सप्ताह से आचार संहिता लागू है। प्रधानमंत्री और शाह कथित रूप से आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं। इस पर पीठ ने कहा कि वह मामले पर मंगलवार को सुनवाई होगी।

याचिका में मांग की गई है कि पीएम मोदी और अमित शाह पर चुनाव आचार संहिता के कथित उल्लंघन को लेकर चुनाव आयोग को तत्काल कार्रवाई करने के आदेश दिए जाएं। कांग्रेस का कहना है कि 23 अप्रैल को मतदान के दिन गुजरात में रैली करके प्रधानमंत्री ने आचार संहिता का उल्लंघन किया था। उल्लंघन के तीन हफ्ते बीतने के बाद भी चुनाव आयोग द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 

कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने उच्चतम न्यायालय में कहा है कि पीएम मोदी और अमित शाह नफरत भरे भाषण दे रहे हैं। चुनाव आयोग द्वारा रोक लगाए जाने के बाद भी राजनीतिक प्रोपगेंडा के तहत भाषणों में सुरक्षाबलों का बार-बार इस्तेमाल किया जा रहा है।


Featured Post

जगद्गुरु रामानुजाचार्य ने भी इसी महाशक्ति पीठ- शारदा सर्वज्ञ पीठ से प्रेरणा प्राप्त की थी

 नमस्ते शारदे देवि, काश्मीरपुर वासिनी,  त्वामहं प्रार्थये नित्यं, विद्यादानं च देहि मे  श्री शारदा सर्वज्ञ पीठ-काश्मीर का इतिहास  प्राक्कथन ...