सोमवार, 29 अप्रैल 2019

तेल की कीमतों पर काबू पाने के अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान पर उठे सवाल


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तेल की तेजी पर अमेरिका राष्ट्रपति ने राहत भरी खबर दी कि उन्होंने सऊदी अरब समेत ओपेक देशों से कच्चा तेल उत्पादन बढ़ाने पर बात की है और सभी इसके लिए तैयार हो गए हैं। लेकिन कुछ ही घंटों बाद पूरे मामले से संबंधित एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति ने विएना स्थित ओपेक के मुख्यालय पर किसी से भी तेल उत्पादन पर कोई बात ही नहीं की है।दरअसल, व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बात करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से ओपेक पर तेल की कीमतें कम रखने का दबाव बनाया था। ट्रंप ने ट्वीट भी किया कि पिछले दो माह से तेल की कीमतों में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए बनाया और सऊदी समेत अन्य ओपेक देशों ने तेल का उत्पादन बढ़ाने पर सहमति जता दी है। 

उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके ओपेक देशों से तेल का उत्पादन बढ़ाने के प्रयास रंग ला रहे हैं। लेकिन विएना स्थित ओपेक देशों के सचिवालय नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि ट्रंप ने इस बारे में किसी से कोई चर्चा की ही नहीं है। अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने न तो ओपेक महामंत्री से बात की है और न ही सऊदी के ऊर्जामंत्री से तेल उत्पादन को लेकर वार्ता की है। बता दें कि विएना में ओपेक देशों का स्थायी स्टाफ है और यहीं पर मंत्री स्तरीय बैठकें आयोजित होती हैं। 

लंबे समय से बढ़ रही है तेल की कीमत

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बीते एक माह से कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। एक साल की समान अवधि में कच्चे तेल की कीमतों में 33 फीसदी का उछाल आ चुका है। शनिवार सुबह अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड तेल 71.63 डॉलर प्रति बैरल और डब्ल्यूटीआई क्रूड तेल 63.30 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहे हैं।


Featured Post

जगद्गुरु रामानुजाचार्य ने भी इसी महाशक्ति पीठ- शारदा सर्वज्ञ पीठ से प्रेरणा प्राप्त की थी

 नमस्ते शारदे देवि, काश्मीरपुर वासिनी,  त्वामहं प्रार्थये नित्यं, विद्यादानं च देहि मे  श्री शारदा सर्वज्ञ पीठ-काश्मीर का इतिहास  प्राक्कथन ...