Posts

Showing posts from July, 2020

गंगा की निर्मलता जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अमृतानंद जी ने अखाड़ा परिषद् का किया समर्थन-अनेक हिन्दू संगठनों भी हुए साथ

Image
हरिद्वार | अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष स्वामी नरेंद्र गिरी और श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्वाण के महंत व कुम्भ मेला प्रबंधक श्री दुर्गा दासजी महाराज जी द्वारा गंगा को स्कैप चैनल बनाने वाले सरकारी अध्यादेश के विरोध को अब शारदा सर्वज्ञ पीठ, काश्मीर के शंकराचार्य जगद्गुरु स्वामी अमृतानंद देव तीर्थ जी का भी समर्थन प्राप्त हो गया है. जगद्गुरु स्वामी अमृतानंद ने पत्र द्वारा अखाड़ा परिषद् को पूर्ण सहयोग देने का आश्वासन दिया.       श्री मा योग शक्ति दिव्य धाम ट्रस्ट, कनखल के ट्रस्टी श्री इंद्र मोहन मिश्र ने बताया कि 2016 में हरीश रावत की सरकार द्वारा एक आदेश से हरिद्वार के इस पावन तीर्थ में सदियों से प्रवाहित गंगा के अनेक घाटों को गंदे नाले में परिवर्तित कर दिया है, जिनमें  सुभाष घाट, गऊ घाट, कुशा घाट, हनुमान घाट, श्रवण घाट, राम घाट, विष्णु घाट, बिरला घाट, राज घाट, विश्वकर्मा घाट, कबीर घाट, हरिगिरी संन्यास आश्रम घाट से पाइलट बाबा घाट आदि अनेक घाटों में गंगा के निर्मल जल के स्थान पर सीवरेज का गन्दा मल बह रहा है, जो कि हरिद्वार तीर्थ के लिए बहुत ही चिंता का विषय             गंगा की

पाकिस्तान के कब्जे में है काश्मीर का श्री शारदा सर्वज्ञ महाशक्ति पीठ

Image
              नमस्ते शारदे देवि, काश्मीरपुर वासिनी, त्वामहं प्रार्थये नित्यं, विद्यादानं च देहि मे       श्री शारदा सर्वज्ञ पीठ, काश्मीर भारतवर्ष के अट्ठारह महाशक्ति पीठों में सबसे अग्रणी है. भगवान् शिव के अवतार आदि शंकर ने अपनी शिवलीला के कारण  यहीं महाशक्ति पीठ पर माँ शारदा से जगद्गुरु होने का आशीर्वाद प्राप्त किया था. हिमालय के इस स्वर्ग काश्मीर देश की अधिष्ठात्री देवी 'शारदा' मानी जाती हैं, इसी कारण 'शारदादेश' या 'शारदमंडल' कहलाता है और इसी से वहाँ की लिपि को 'शारदालिपि' कहते हैं.      शारदा, जिसे स्थानीय भाषा में शारदी भी कहते हैं, वर्तमान में पाक-अधिकृत कश्मीर के नीलम ज़िले में स्थित एक तहसील के रूप में आज भारत के मानचित्र में है.  यह नीलम ज़िले की दो तहसीलों में से एक है. किशनगंगा घाटी (नीलम घाटी) में यह माँ शारदा का यह महाशक्ति पीठ के अब भग्नावशेष बचे है. यह किशनगंगा नदी के किनारे 1981 मीटर की ऊँचाई पर बसा हुआ है.      शारदा महाशक्ति पीठ क्षेत्र में मधुमती और कृष्णगंगा के संगम पर गया, हरिद्वार के बाद पितृ कर्म अनुष्ठान व देव कार्य के लिए सनातन

5 जुलाई रविवार, मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन

Image
  कैसे ज्ञात करें अपना शुभ मूलांक-अंक ज्योतिष -लेख पढ़े   click the link below https://savarkartimes.page/article/kaise-gyaat-karen-apana-shubh-moolaank-ank-jyotish/jJr5Om.html 5 जुलाई शुक्रवार, मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन 1 छात्रों को अपनी मेहनत अधिक बढ़ाने की जरूरत होगी.  खासकर उन छात्रों को अधिक मेहनत करनी होगी जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं. आज आप माता-पिता कि ओर से अधिक बातें सुनने को मिल सकती हैं.  2 स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह समय थोड़ा परेशान कर सकता है. आप बाहर के खाने से खुद को बचा कर रखें. आज आप कुछ आलसी अधिक हो सकते हैं.  3 आप अपनी बात पर कुछ ज्यादा ही अड़ने वाले हैं जो शायद आपके लिए सही न हो. खुद को स्थिति के अनुरूप ढालना आपके लिए अच्छा होगा.  4 यह समय नयी योजनाएं को बनाने में लगेगा. काम को लागू करने में दिक्कतें आ सकती हैं. जरुरी यह है कि आप डटे रहें.  5 किसी भी चीज को क्रिन्यान्वित करने के लिए समय अनुकूल है. इस समय आपकी प्रबंधन क्षमता अपने अच्छे स्तर पर हो सकती है.  6 आपकी बुद्धि क्षमता आज बेहतर होगी. आज का दिन आप अपनी

गंगा को गंदा नाला बनाने का घिनौना खेल-नमामि गंगा क्या केवल नारा मात्र रह गया है?

Image
      गंगा को पिछले कई वर्षों से नाला बनाने का षड्यंत्र चल रहा है, उसके विरोध में अब महंत श्री दुर्गा दासजी महाराज ,कुम्भ मेला प्रबंधक, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्वाण राजघाट, कनखल ने मोर्चा खोल लिया है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी जी ने भी गंगा को निर्मल और अविरल करने के लिए वर्तमान उत्तराखंड सरकार से उस आदेश को निरस्त करने की मांग कि जिसके तहत हरिद्वार विकास प्राधिकरण ने गंगा को नाले में बदल दिया.      उत्तराखंड सरकार ने 14 दिसम्बर 2016 को आर. मीनाक्षी, सचिव, उत्तराखंड सरकार द्वारा हरिद्वार विकास प्राधिकरण को जारी एक आदेश में लिखा कि सर्वानंद घाट से हर की पैड़ी- ब्रह्म कुण्ड व कनखल में बहने वाली गंगा एक नाला है, इसमें सीवरेज जोड़ा जा सकता है. इसी आदेश में गंगा को सरंक्षित करने के ग्रीन ट्रिब्यूनल किसी गाइड लाइन का कानून की पाबंदी न होने का उल्लेख हुआ, और दुर्भाग्य से हरीश रावत की से लेकर अब उत्तराखंड की भाजपा सरकार भी  इसी आदेश को स्थायी रखते हुए है.    मुख्य प्रशासक, आवास एवं नगर विकास प्राधिकरण, देहरादून को ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों का सन्दर्भ दे

3 जुलाई शुक्रवार, मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन

Image
                कैसे ज्ञात करें अपना शुभ मूलांक-अंक ज्योतिष click the link below https://savarkartimes.page/article/kaise-gyaat-karen-apana-shubh-moolaank-ank-jyotish/jJr5Om.html दैनिक राशिफल-अपने मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन 1 आपकी मेहनत का असर दिखाई देगा. आज का दिन आप कुछ अपनों कि ओर से थोडी़ सहयोग की स्थिति देख सकते हैं. बच्चों को लेकर आप अधिक संजीदा दिखाई देंगे.  2 अपने खान-पान में लापरवाही न बरतें. आज आपकी मेहनत अधिक रह सकती है. कुछ कारन से किसी की बात परेशान कर जाए. जरुरी है कि आप चीजों को गंभीरता से लेने से बचें.  3 आपको अगर शुगर से संबंधित दिक्कत है तो वह परेशान कर सकती है. अपने वजन बढ़ने की दिक्कतें आप पर हावि हो सकति हैं. किसी गुरु का परामर्श राहत देने वाला भी होगा.  4 अपने प्रयास को लगातार जारी रखें.  आपकी मेहनत का पूरा फल न मिल पाए. कुछ लाभ में कमी भी होती दिखाई देती है. पेरेंटस बच्चों को लेकर लापरवाह नहीम हों.  5 आपके लिए आज का दिन मिश्रित या औसत रिजल्ट दे सकता है. यह गोचर समय अपने काम और अपनी बातों का ध्यान से उपयोग करें. छोटी सी बात का आक्षेप भी आप प

अब रूस से पंगा लेने पर तुला चीन- रूस के व्लादिवोस्तोक शहर को बताया अपना

Image
नई दिल्ली. 2 जुलाई |   रूस से पंगा लेने पर तुला चीन, अब रूस के व्लादिवोस्तोक शहर पर चीन का दावा, कहा-1860 से पहले हमारा था         चीन में जितने भी मीडिया संगठन हैं सभी सरकारी है.  ऐसी स्थिति में सीजीटीएन के संपादक  शेन सिवई का ट्वीट अहम हो जाता है, चीन के सरकारी समाचार चैनल सीजीटीएन के संपादक शेन सिवई ने दावा किया कि रूस का व्लादिवोस्तोक शहर 1860 से पहले चीन का हिस्सा था. Shen Shiwei沈诗伟   @shen_shiwei ·   This “tweet” of #Russian embassy to #China isn’t so welcome on Weibo “The history of Vladivostok (literally 'Ruler of the East') is from 1860 when Russia built a military harbor.” But the city was Haishenwai as Chinese land, before Russia annexed it via unequal Treaty of Beijing.       चीन अपनी विस्तारवादी नीति के कई आत्मघाती फैसले ले  रहा है, भारत और रूस ही नहीं लगभग 18 देशों से चीन ने भूमि कब्जाने को लेकर एक प्रकार का युद्ध छेड़ा हुआ है.  रूस के शहर पर अपना दावा करने के सन्दर्भ में कहा कि रूस के ब्लादिवोस्तोक शहर को पहले हैशे

गंगा को नाला मानने वाले सरकारी आदेश को अविलम्ब वापस लिया जाए-हरिद्वार में संतों में आक्रोश

Image
हरिद्वार, 2 जुलाई | वर्ष 2016 से हरीश रावत की उत्तराखंड सरकार द्वारा गंगा को स्कैप चैनल यानि नाला घोषित किया हुआ है, जिसे अभी तक भाजपा की सरकार ने निरस्त नहीं किया है. इस कारण गंगा की निर्मलता को दूषित होने से बचाने के लिए, कुम्भ मेला प्रबंधक श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्वाण राजघाट कनखल, हरिद्वार के महंत श्री दुर्गा दासजी महाराज ने आज हरिद्वार में बैठक की. जिसमें प्रमुख संतों ने भाग लिया.      महंत श्री दुर्गा दासजी महाराज ने पिछली कांग्रेस की उत्तराखंड सरकार के एक आदेश पत्र के सन्दर्भ से बताया कि किसी षड्यंत्र के तहत ही सर्वानंद घाट से सुखी नदी होते हुए शमशान घाट फिर हर की पैड़ी, ब्रह्मकुंड,हरिद्वार से डामकोटी,कनखल और डामकोटी से सती घाट तक की गंगा को स्कैप चैनल यानि नाला घोषित करके उसमें हरिद्वार शहर का सीवरेज से निकलने वाला मल मूत्र डाला जा रहा है. यह बहुत ही दुखद और गंभीर विषय है कि उत्तराखंड की वर्तमान हिंदूवादी सरकार ने अभी तक गंगा की निर्मलता और पवित्रता से खिलवाड़ करने वाले इस आदेश को निरस्त नहीं किया. गंगा सनातन धर्म की प्राण प्रवाहिका है. गंगा को नाला कहना और उसे प्रदूषित

जुलाई 5, 2020 को रविवार के दिन-आषाढ़ मास की पूर्णिमा गुरु पूर्णिमा 

Image
आषाढ़ पूर्णिमा      आने वाली 5 जुलाई के दिन आषाढ़ पूर्णिम का पर्व मनाया जाएगा. आषाढ़ मास को आने वाली पूर्णिमा तिथि को आषाढ़ पूर्णीमा और गुरु पूर्णिमाके नाम से भी जाना जाता है. पूर्णाम तिथि के शुभ अवसर पर दो महत्वपूर्ण कार्य संपन्न किए जाते हैं. इस दिन भगवान श्री विष्णु का पूजन किया जाता है और दूसरा कार्य गुरु के प्रति सम्मान व्यक्त किया जाता है. इस वर्ष आषाढ़ पूर्णिमा जुलाई 5, 2020 को रविवार के दिन मनाई जाएगी. पूर्णिमा तिथि आरंभ - 04 जुलाई, 2020 को 11:33 मिनिट पर होगा. पूर्णिमा तिथि की समाप्ति  - 05 जुलाई, 2020 को 10:13 पर होगी आषाढ़ पूर्णिमा पर होगी सत्यनारायण कथा         पूर्णिमा तिथि के उपलक्ष्य पर भगवान सत्यनारायण का पूजन होता है और कथा को पढ़ा व सुना जाता है. इस कथा के पूजन द्वारा ही पूर्णिमा का व्रत संपूर्ण माना जाता है. 4 जुलाई को होगी सत्यनारायण कथा और चंद्रमा का पूजन किया जाएगा. आषाढ़ी पूर्णिमा के दिन श्री हरि का पूजन होता है. इस दिन प्रातः काल स्नान इत्यादि नित्य कार्यों से निवृ्त होकर पूर्णिमा के व्रत का संकल्प किया जाता है. श्री विष्णु के अनेक नामों का स्मरण किया जाता

कोकिला व्रत 4 जुलाई 2020 को शनिवार्-दांपत्य जीवन को खुशहाल होने का वरदान

Image
कोकिला व्रत महत्व       कोकिला व्रत की ऐसी मान्यता है कि इस व्रत को करने से सभी सुखों की प्राप्ति संभव हो पाति है. यह दांपत्य जीवन को खुशहाल होने का वरदान प्रदान करता है. इस व्रत के द्वारा मन के अनुरुप शुभ फलों की प्राप्ति होती है. शादी में आ रही  किसी भी प्रकार की दिक्कत हो तो इस व्रत का पालन करने से विवाह का सुख प्राप्त होता है.   यह व्रत योग्य वर की प्राप्ति कराने में सहायक बनता है.  इस वर्ष कोकिला व्रत 4 जुलाई 2020 को शनिवार् के दिन रखा जाएगा.    कोकिला व्रत की कथा       कोकिला व्रत की कहानी का संबंध शिव पुराण में भी प्राप्त होता है. कथा इस प्रकार है ब्रह्मा के मानस पुत्र दक्ष के घर देवि सती का जन्म होता है. दक्ष विष्णु का भक्त था और भगवान शिव से द्वेष रखता था. जब बात सती के विवाह की होती है, तब राजा दक्ष कभी भी सती का संबंध भगवान शिव से जोड़ना नहीं चाहते थे. राजा दक्ष के मना करने पर भी सती ने भगवान शिव से विवाह कर लिया होता है.  पुत्री सती के इस कार्य से दक्ष इतना क्रोधित होते हैं कि वह उससे अपने सभी संबंध तोड़ लेते हैं. कुछ समय बाद राजा दक्ष शिव अपमान करने हेतु एक महायज्ञ का

2 जुलाई 2020 बृहस्पतिवार,दैनिक राशिफल-अपने मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन

Image
  कैसे ज्ञात करें अपना शुभ मूलांक-अंक ज्योतिष click the link below https://savarkartimes.page/article/kaise-gyaat-karen-apana-shubh-moolaank-ank-jyotish/jJr5Om.html   2 जुलाई 2020 बृहस्पतिवार,दैनिक राशिफल-अपने मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन 1 नए वसर प्राप्त होंगे, पर आपके प्रतिद्वंद्वी उन पर रोक भी लगाने की कोशिश कर सकते ःऎं. अपने भाई बंधुओं के साथ प्रेम बना कर रखें. अन्यथा विवाद तो बनने की पूरी आशंका है.  2 जितना आप मेहनत करेंगे उतनी आपको अपनी आय बढ़ाने में मदद मिलेगी. इस समय आप काफी इमोशनल भी हो सकते हैं किसी की बातें आप को दिल से छू सकती हैं.  3 आज के दिन आप अपनी कला प्रतिभा का परिचय दे सकते हैं. कुछ मिटिंग में आपकी स्थिति बेहतर रुप से सामने आएगी. अगर आप कोई बाहरी संपर्क में आगे बढ़ना चाहते हैं तो कोशिश कर सकते हैं.  4 आपको काफी अच्छा प्लेटफॉर्म चाहिए होगा तो इसके लिए आज आपके कोई मित्र सहायक बन सकते ःऎं. खान पान को लेकर आप थोड़े चूजी हो सकते हैं.  5 अपना कौशल दिखाने का, किसी भी मौके को हाथ से जाने न दें. अपनी फैमली को साथ लेकर चलना आसान नहीम होगा. पर दिलों की दूरी

1 जुलाई 2020 बुधवार, दैनिक राशिफल-अपने मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन

Image
                         कैसे ज्ञात करें अपना शुभ मूलांक-अंक ज्योतिष click the link below https://savarkartimes.page/article/kaise-gyaat-karen-apana-shubh-moolaank-ank-jyotish/jJr5Om.html   1 जुलाई 2020 बुधवार दैनिक राशिफल-अपने मूलांक से जाने कैसा रहेगा आज का दिन 1 काम की अधिकता आपको परेशान कर सकती है. आज आप अपने लिए समय की कमी को झेलेंगे. जो लोग सरकारी काम काज में लगे हुए हैं उन्हें अधिक मेहनत की जरुरत होगी.  2 आज पेट या पेट के निचले हिस्से से संबंधित दिक्कत आ सकती है. काम को लेकर बहुत अधिक परेशान नही हों स्ठिति सामान्य होगी. आज अपनी माता जी से आशीर्वाद लेकर अपने काम आरंभ करे.  3 यह समय आपके लिए काफी शुभ न रह पाए. आपको अपने शत्रुओं से खुद को संभाल कर रखने की जरूरत होगी. रिश्तों में सामंजस्य बिठाने में आपको काफी मेहनत करनी होगी.  4 लोगों से मदद मिलेगी, जिन व्यक्तियों को प्रेम संबंधों में चुनौती आ रही थी, उन्हें रिश्ता सुधारने के मौके भी प्राप्त हो सकते हैं.  5 रिश्तों में आप ज्यादा सफल न हो पाएं पर आपकी ओर से किए गए प्रयास सफल हो सकते हैं. जो लोग विवाह का इंतज़ार कर रहे थे