Posts

Showing posts from November, 2020

अमावस्या के दिन करें ये सरल उपाय- मिलेगी कर्जे व रोग से मुक्ति- ज्योतिष मंथन

Image
प्रत्येक माह अमावस्या के दिन एक ऐसा समय होता है जब कई प्रकार के उपायों एवं टोटकों को करके अपनी समस्किया से मुक्ति पा सकते हैं. इसी दिन पूर्णिमा, और सूर्य सक्रांति की तरह साधक मन्त्र सिद्धि या वैदिक तंत्र सिद्धि का प्रयोग करता है तो वह शीघ्र ही सकरात्मक परिणाम देता है.  विशेष रूप से अमावस्या के दिन सूर्य और चंद्रमा एक साथ होते है, दोनों ही शक्तियां एकत्र होती है, जो युग्म शक्ति रूप होकर कई गुना अधिक शक्तिशाली हो जाती है, यदि आप कर्ज मुक्ति के लिए या वैवाहिक सुख के लिए या रोग मुक्ति के लिए सरल व कारगर उपाय खोज रहें तो इस लेख को पढ़े.      वर्ष भर इस तिथि पर ही अनेकों प्रकार के तांत्रिक कर्म भी संपन्न होते हैं. आध्यात्मिक शक्ति को जागृत करने के लिए भी इस रात्रि का उपयोग किया जाता है. आईये जानते हैं की इस अमावस्या के दिन  हम किस प्रकार के उपायों को करके जीवन की दिशा और दशा को बदल सकते हैं.  कर्ज मुक्ति के लिए करें ये उपाय       अमावस्या के दिन सुबह स्नान करके किसी भी मंदिर में जाएं और भगवान् को एक नारियल अर्पित करके अपनी आर्थिक समस्या या  कर्ज मुक्ति के लिए प्रार्थना करें. फिर अपाम

ये सरल उपाय करें- बहुत जल्दी रिजल्ट मिलेगा -ज्योतिष मंथन

Image
        यदि किसी के जीवन में बुरे ग्रह की दशा चल रही है और उससे बचने के लिए वह ज्योतिषीय परामर्श चाहता है, तो वह इन बातों का विचार करके अपने जन्म कुंडली के खराब व पापी ग्रह के दोष को दूर कर सकता है. ये उपाय बहुत ही सरल है, जिन्केहें आप आसानी से कर सकते हैं.    सुर्य : यदि आपकी कुंडली में सूर्य पीड़ित है, तो  उसके दूषित प्रभाव होने पर पेट, आंख, हृदय सम्बन्धित रोग हो जाए और पिता, उच्च अधिकारी व सामजिक जीवन में अपयश होने लगे तो आप ये उपाय करें -  १.तांबा, गेंहू एवं गुड का दान करें. २.मिट्टी के एक पात्र में आम की एक छोटी लकड़ी को अग्नि से जलाएं, फिर आधी लकड़ी जल जाने पर,  उस पर दूध के छींटें देकर  अग्नि को बुझाएं. ३.घर से निकलने से पूर्व  गुड़ का सेवन करें. ४.रविवार को शंख बजाकर हरिवंश पुराण का पाठ करें. ५.ताबें का बराबर दो तुकडा काटकर एक को पानी में बहा दें एक को घर पर किसी सुरक्षित स्थान पर रखें. चंद्र : यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा पीड़ित है, तो उसकी अशुभता से जब भी वाहन में खराबी, दुर्घटना, माता क कष्ट आदि होते हैं.  व्यक्ति की स्मरण शक्ति में कमी आती है,  मकान में जल संकट उत्पन्न ह