Posts

Showing posts from October, 2020

कैसे की जाती है पुरूषोत्तमा एकादशी पूजा और उपासना 

Image
पुरूषोत्तमा एकादशी         मल मास अर्थात अधिक मास इस मास में आने वाली एकादशी को ही पुरूषोत्तमा एकादशी के नाम से जाना जाता है. ये एकादशी बहुत अधिक खास होती है. इस दिन किया गया एकादशी पूजन आपके पुण्यों में वृद्धि करता है और आपके अपराधों की शांति भी होती है. इस दिन की एकादशी का वर्णन हमें विष्णु पुराण, स्कंद पुराण इत्यादि धर्म ग्रंथों में प्राप्त होता है. जहां पर एकादशी की महिमा का बहुत ही सुंदर शब्दों में विस्तारपूर्वक वर्णन प्राप्त होता है.  .   क्यों होती है पुरूषोत्तमा एकादशी इतनी खास ?      पुरूषोत्तमा एकादशी की महिमा अत्यंत ही विरल है. यह एकादशी समस्त एकादशियों से अलग होती है और इसका एक विशेष महत्व भी होता है. पुरुषोतमा एकादशी को इसलिए भी इतना खास इस कारण से माना गया है क्योंकि इस एकादशी को हम प्रतिवर्ष नही देख पाते है. प्रत्येक तीन वर्ष के पश्चात ही हमें इस एकादशी के दर्शन होते हैं. इस कारण से पुरुषोत्तमा एकादशी की महिमा सबसे अलग और विशिष्ट मानी गयी है.    कब किया जाता है पुरुषोत्तमा एकादशी का व्रत ? पुरूषोत्तमा एकादशी का व्रत और इसका पूजन अधिक मास में ही किया जाता है. अधिक

लव जिहाद की शिकार लड़की की घर वापसी कराई हिन्दू महासभा ने

Image
मुज्जफरनगर |1 अक्टूवर |  लव जिहाद की शिकार मोती महल से अपहरण की गई हिन्दू लड़की को मुक्त कराने के लिए हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक ने एस पी सिटी, और स्थानीय प्रशासन के साथ बातचीत कर लड़की को मुक्त कराने का दबाव बनाया. जिसके लिए हिन्दू महासभा ने धरना व प्रदर्शन किया. इसके बाद 29 सितम्बर को दिल्ली से राष्ट्रीय अध्यक्ष मुज्जफर नगर पहुंचे और जिले के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष लड़की के परिवार वालों से मिले और उन्हें सुरक्षा का आश्वासन दिया था. आज दो दिन बाद उत्तर प्रदेश की पुलिस टीम ने लड़की को लव जिहादियों के चुंगल से मुक्त करा दिया. आरोपी गुंडों को जेल भेज दिया गया है.