Posts

Showing posts from August, 2019

मृगशिरा नक्षत्र का ज्योतिषीय उपाय -खादिर,अनेक अनसुने फायदे

Image
नई दिल्ली : हिन्दू ज्योतिष के अनुसार 27 नक्षत्रों के स्वामित्व वाले वृक्ष व वनस्पतियां हैं | वृषभ व मिथुन राशि के संधि में मृगशिरा नक्षत्र स्थित है, वृषभ 23 अंश 20 कला से प्रारम्भ होकर अगली राशि मिथुन के 6 अंश 40 कला तक इसका प्रभुत्व है | प्रत्येक नक्षत्र के चार चरण होते हैं, इसके दो चरण वृषभ व दो चरण मिथुन राशि में है | इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह मंगल देव हैं और देवत्व सोमदेव को प्राप्त है |     मृगशिरा नक्षत्र का प्रतिनिधि खैर यानी खादिर वृक्ष है | जिनकी जन्मकुंडली में यह नक्षत्र पाप ग्रहों से पीड़ित है या यह नक्षत्र तारा चक्र में विपत, प्रत्यहरि व वध वर्ग में है तो उपाय के रूप में खैर के पौधों का दान रूप में रोपण करना चाहिए, वृक्षारोपण विशेष रूप से तभी करना चाहिए जब चंद्रमा इसी नक्षत्र पर गोचर कर रहा हो अथवा महादशा या अन्तर्दशा या प्रत्यंतरनाथ ग्रह का गोचर इसी नक्षत्र में हो रहा हो |  यह ध्यान रखना चाहिए कि गोचरस्थ ग्रह पर अशुभ ग्रह की दृष्टि ना हो, यदि हो तो उस अशुभ ग्रह का ज्योतिषीय उपचार अवश्य करना चाहिए, जिससे नक्षत्र उपचार के शुभ फल प्राप्त हो सके |      खैर (खादिर) का पर

कनकधारा स्तोत्र एक अचूक उपाय, एक बार अवश्य आजमाएं

Image
कनकधारा मंत्र साधना.        ब्रम्हाण्ड का नियन्त्रण करने वाले पुरूष-तत्व प्रतिरूपों अर्थात त्रिदेवों में विष्णु को पालनकर्ता कहा जाता है. उन्हीं जगत-पालक विष्णु की शक्ति को लक्ष्मी की संज्ञा दी गई है.  विष्णु-पत्नी के रूप में लक्ष्मी उनके साथ सर्वत्र पूजित हैं. कहीं भी चित्रों में अथवा मूत्तियों में देखें तो हमें लक्ष्मी-विष्णु अथवा लक्ष्मी-नारायण की युगल छवि दिखाई देगी। सही भी है कि जो देवता पालन करते हैं, उसकी शक्ति (पत्नी) अवश्य ही भौतिक वस्तुओं की समृद्धि से सम्पन्न होगी. मानव-जाति के पालन-पोषण में जो कुछ भी अन्न, वस्त्र, धन आदि प्रयुक्त होते हैं। इस प्रसंग में यह भी स्मरण रखना चाहिए कि तीनों देवता (ब्रम्हा, विष्णु, महेश) उस व्यक्ति (साधक) पर विशेष कृपालु होते हैं, जो उन्हें उनकी शक्तियों (सरस्वती, लक्ष्मी, गौरी) के साथ स्मरण करता है. वैसे, किसी भी देवी की साधना करके उसके देवता की, और किसी भी देवता की साधना करके उसकी देवी की कृपा भी प्राप्त की जा सकती है, तथापि सरलतम और संगत विधान यही माना जाता है कि अभीष्ट देवी-देवताओं की युगल रूप में आराधना करनी चाहिए। इसका प्रभाव विशेष रूप से अध

क्या आपकी जन्म कुंडली में है अंगारक योग ?  अशुभ अंगारक दोष से हो सकती है जेल !!

Image
शुभ अंगारक योग दिलाता है संपत्ति !!          क्‍या है अंगारक योग ?     जब कुंडली में राहु अथवा केतु में से किसी एक के साथ अथवा दृष्टि से मंगल ग्रह का संबंध बन जाए तो उस कुंडली में अंगारक योग का निर्माण होता है. अं गारक योग की हिन्दू ज्योतिष में मान्यता के अनुसार यदि कुंडली के किसी भी भाव में मंगल का राहु अथवा केतु से स्थान अथवा दृष्टि से संबंध बन जाए तो ऐसी कुंडली में अंगारक योग का निर्माण हो जाता है,  जिसके प्रभाव से जातक आक्रामक, हिंसक तथा नकारात्मक छवि का हो जाता है.     इस योग वाले जातकों के अपने भाईयों, मित्रों तथा अन्य रिश्तेदारों के साथ संबंध भी खराब हो जाते हैं.  कुछ ज्योतिषी यह मानते हैं कि किसी कुंडली में अंगारक योग बन जाने पर  जातक अपराधी बन जाता है तथा उसे अपने गैर-कानूनी कार्यों के चलते लंबे समय तक कारावास में भी रहना पड़ सकता है.        किसी जातक को अंगारक योग के अशुभ फल तभी प्राप्त होते हैं जब कुंडली में अंगारक योग बनाने वाले मंगल, तथा राहु अथवा केतु दोनों ही अशुभ भाव 6,8, 12 में हों. यदि किसी कुंडली के तीसरे भाव में अशुभ मंगल का अशुभ राहु अथवा अशुभ केतु के साथ युति व

सूर्यदेव को प्रसन्न करने के लिए सूर्याष्टकं के मन्त्रों के साथ इन 5 उपायों को करें

Image
नई दिल्ली | जिस जातक की कुंडली में सूर्य नीच राशि व शत्रु राशि में हैं अथवा शनि, राहू-केतु के दुष्प्रभाव में हैं, ऐसे जातक के जीवन में संबंधों व रोजगार को लेकर अस्थिरता बनी रहती है | जिनके जीवन में शत्रु बाधा, स्वास्थ्य व आर्थिक कष्ट लगातार बने हुए हैं, वे नित्य सुबह सूर्योदय से एक घंटा पूर्व उठकर स्नान करके प्रसन्न चित्त होकर पूर्ण आस्था से गायत्री मन्त्र को जपता हुआ सूर्य के सम्मुख खड़ा हो जाए और नीचे दिए हुए सुर्याष्टकं के प्रारम्भ के आठ मन्त्रों से सूर्य भगवान को अर्घ्य प्रदान करें तो वह निश्चित रूप से एक माह के भीतर वर्तमान समस्या से मुक्त हो जाता है | यदि समस्या या रोग पुराना हो तो समय लगेगा किन्तु शीघ्र ही लाभ मिलने लगेगा | धैर्य से सूर्य भगवान की भक्ति करते रहे तो कुंडली और गोचर के सभी पाप ग्रह अपना बुरा फल देना बंद कर देंगे | अकेले सूर्य ग्रह सभी ग्रहों से कहीं अधिक शक्तिशाली हैं | ज्योतिष में सूर्य आत्मा का कारक ग्रह भी है |     सूर्योपासना से आत्मबल बढ़ता है | यहां प्रस्तुत है पवित्र सूर्याष्टक का पाठ।  पुराणों के अनुसार भी यह पाठ तुरंत फल प्रदान करने का सामर्थ्य रखता है

24 को जन्माष्टमी, 25 नंदोत्सव-पुराण निर्णय

Image
 नई दिल्ली : इस बार श्री कृष्ण  जन्माष्टमी दो बार मनाई जा रही है, किन्तु वैष्णव जन 24 अगस्त को मनाएंगे | 23 अगस्त को सप्तमी युक्त अष्टमी है, जिसे पुराणों में निषेध किया है | जन्माष्टमी को स्मार्त और वैष्णव संप्रदाय के लोग अपने अनुसार अलग-अलग ढंग से मनाते हैं. श्रीमद्भागवत को प्रमाण मानकर स्मार्त संप्रदाय के मानने वाले चंद्रोदय व्यापनी अष्टमी अर्थात रोहिणी नक्षत्र में जन्माष्टमी मनाते हैं, जो 23 अगस्त को है तथा वैष्णव मानने वाले उदयकाल व्यापनी अष्टमी एवं उदयकाल रोहिणी नक्षत्र को जन्माष्टमी का त्यौहार मनाते हैं, जो कल शनिवार,  24 अगस्त को है | वैष्णव और स्मार्त सम्प्रदाय मत        वैष्णव और स्मार्त सम्प्रदाय मत को मानने वाले लोग इस त्यौहार को अलग-अलग नियमों से मनाते हैं। हिन्दू धर्मशास्त्रों के अनुसार वैष्णव वे लोग हैं, जिन्होंने वैष्णव संप्रदाय में बतलाए गए नियमों के अनुसार विधिवत दीक्षा ली है। ये लोग अधिकतर अपने गले में कण्ठी माला पहनते हैं और मस्तक पर विष्णुचरण का चिन्ह (टीका) लगाते हैं। इन वैष्णव लोगों के अलावा सभी लोगों को धर्मशास्त्र में स्मार्त कहा गया है। दूसरे शब्दों में हम

परमाणु युद्ध की धमकी देने वाले पाकिस्तानी मंत्री की लन्दन में पिटाई हुई,

Image
         लंदन में गुरुवार को पाकिस्तानी रेल मंत्री शेख रशीद की जमकर पिटाई हुई। लोगों ने उनको जमकर घूसे मारे और अंडे भी फेंके। पुलिस के आते ही हमलावर मौके से फरार हो गए। ज्ञात हो कि यह वही मंत्री हैं जिन्होंने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए परमाणु युद्ध तक की धमकी दे डाली थी। इसी मंत्री ने भारत-पाक के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस ट्रेन को बंद करने का एलान भी किया था।      अवामी मुस्लिम लीग के प्रमुख और पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद पर उस समय हमला किया गया जब वह लंदन के एक होटल में आयोजित एक पुरस्कार समारोह में भाग लेकर होटल के लिए वापस निकल रहे थे। इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने ली जिम्मेदारी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) की पीपुल्स यूथ ऑर्गनाइजेशन यूरोप के अध्यक्ष आसिफ अली खान और पार्टी की ग्रेटर लंदन महिला शाखा की अध्यक्ष समाह नाज ने ली है।

मुस्लिम देश बाकू-अज़रबैजान में हैं दूसरा ज्वालाजी का हिन्दू मंदिर 

Image
            कैस्पियन समुद्र के निकट अजरबैजान देश में था ज्वालाजी का अद्भुत मंदिर. बाकू आतेशगाह या ज्वालाजी मंदिर अज़रबेजान की राजधानी बाकू के पास के सुराख़ानी शहर में स्थित एक मध्यकालीन हिन्दू धार्मिक स्थल है। मिडिल ईस्ट एशिया में कैस्पियन सागर के तट पर बसा हुआ एक देश है अजरबैजान (Azerbaijan), बाकू(Baku) इसकी राजधानी है। यह एक इस्लामिक राष्ट्र है और यहाँ की अधिक जनता मुस्लिम है।    बाकू शहर अपनी तूफानी हवाओं के लिए भी प्रसिद्ध है यहाँ कभी-कभी तो हवायें इतनी तीव्र गति से चलती हैं कि इसमें मवेशी भेड़-बकरियाँ तक उड़ जाती हैं। यहाँ पर स्थित इस हिन्दू अग्नि मंदिर में एक पंचभुजा (पेंटागोन) अकार के अहाते के बीच में एक मंदिर है। इसी मंदिर के मंडप में निरंतर अग्नि जला करती थी. बाहरी दीवारों के साथ कमरे बने हुए हैं जिनमें कभी सौ से अधिक पुजारी जनों व उपासकों के रहने की व्यवस्था थी. मंदिर निर्माण की तिथि हिन्दू धर्म अग्नि पूजा का विशेष महत्व है. बाकू ज्वाला जी मंदिर की दीवारों में जड़ा एक शिलालेख, जिसकी पहली पंक्ति 'श्री गणेसाय नमः' से शुरू होती है. इसपर विक्रम संवत १८०२ की तिथि है ज

वजन करने के लिए त्रिफला अवश्य आजमाएं

Image
    यदि आपका वजन कम नहीं हो रहा तो त्रिफला आजमाएं। इससे आपकी बॉडी का एक्‍सट्रा फैट कम होता है और बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं | त्रि फला एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक रासायनिक फ़ार्मुला है जिसमें अमलकी (आंवला )), बिभीतक (बहेड़ा) और हरितकी (हरड़ ) के बीज निकाल कर (1 भाग हरड, 2 भाग बहेड़ा, 3 भाग आंवला) 1:2:3 मात्रा में लेकर बनाया जाता है |      विशेष रूप से मोटापा अब महिलाओं की एक बड़ी समस्या बन चुका है | जो महिलाएं फिट हैं, वे अपने वजन बढ़ने नहीं देना चाहती और जो मोटी हैं, वे इसे घटाना चाहती हैं क्‍योंकि ज्‍यादा वजन कई हेल्‍थ संबंधी समस्याओं का कारण भी बनता है। लेकिन मोटापा कम करना बहुत कठिन काम है क्‍योंकि इसके लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है।      महिलाएं वजन कम करने के लिए विभिन्न तरीकों को अपनाती हैं। वे आमतौर पर वर्कआउट करती हैं, डाइट प्‍लान बनाती हैं और यहां तक फास्टिंग का भी सहारा भी लेती हैं। हालांकि यह सारे उपाय मोटापा कम करने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। लेकिन कई ऐसे हर्ब्‍स भी हैं जिनकी हेल्प से आप बिना किसी दर्द के वजन कम कर सकती हैं। जी हां वजन कम करने के लिए सबसे अच्छे हर